साप्ताहिक राशिफल: कर्क, सिंह और कन्या राशि को इन उपायों से मिल सकते हैं लाभ

    16-Dec-2019
|

newsphrase.com-rashifal
 
साप्ताहिक राशीफल ( 16-22 दिसंबर 2019 )
आचार्य पं सोमेश शर्मा जी द्वारा।
 
 
कर्क - इस सप्ताह की शुरुआत में चन्द्रमा आपकी राशि के दशम भाव में होंगे इसके बाद एकादश, द्वादश भाव में और फिर अंत में आपकी ही राशि यानी आपके लग्न भाव में गोचर कर जाएंगे। इसके साथ ही इस सप्ताह शुक्र ग्रह भी आपकी राशि से सप्तम भाव में गोचर करेगा। सप्ताह की शुरुआत में आपको कार्यक्षेत्र में भरपूर सफलता हाथ लगेगी और आप इस दौरान अपनी क्षमता से भी अधिक कार्य को पूरा करने के लिए तत्पर नज़र आएँगे। इस समय आपका ये कमाल का प्रदर्शन देख आपके अधिकारी आपकी ओर आकर्षित होंगे जिसका लाभ भविष्य में आपको मिल सकता है। सहकर्मी भी आपके काम की जमकर तारीफ़ करेंगे जिससे आपको अपने मनोबल में वृद्धि महसूस होगी। इस समय आपके शत्रु सक्रिय होने का प्रयास करेंगे लेकिन आप उनपर भी अपना दबदबा स्थापित कर पाने में सफल रहेंगे। चंद्र के एकादश भाव में गोचर करने से आपको किसी भी प्रकार के निवेश से फायदा मिलेगा। इस समय आप अपने धन का निवेश कही करने के बारे में विचार कर सकते हैं, लेकिन यदि इस दौरान आपने किसी भी तरह की जल्दबाजी की तो आपका वो धन फँस सकता है। इस सप्ताह विशेष तौर से शेयर या सट्टा बाजार में निवेश करने वाले जातकों को हानि होने का योग बनता दिखाई दे रहा है।
 
हालांकि इसके बाद मध्य से लेकर सप्ताह के अंत में जब चंद्र आपके द्वादश भाव से होते हुए आपकी ही राशि में विराजमान हो जाएगा तब आपको किसी प्रकार की मानसिक अशांति का सामना करना पड़ सकता है, जिससे आपकी सेहत में भी गिरावट दर्ज की जाएगी। इस समय आप में आलस्य की भरमार होगी, जिससे आप कोई भी कार्य समय पर पूरा नहीं कर पाएंगे और इससे आपको हानि होगी। छात्रों को अधिक मेहनत करनी होगी क्योंकि इस समय उन्हें मिले-जुले परिणाम हासिल हो सकते हैं। जो लोग अभी तक बेरोज़गारी थे उन्हें शुभ समाचार प्राप्त हो सकता है। व्यापारियों के लिए समय थोड़ा चुनौती पूर्ण रहने वाला है। जो लोग बिज़नेस पार्टनर-शिप में व्यवसाय करते हैं उन्हें साझेदार से धोखा मिल सकता है। इसके साथ ही अंत में शुक्र के गोचर से आप खुद को अपने लक्ष्य से जुड़ा हुआ पाएंगे। इस दौरान आपका मन कार्य स्थल पर अधिक लगेगा जिससे आप अपना 100 प्रतिशत योगदान कार्य में दे पाएंगे। शुक्र देव आपके निजी जीवन में भी खुशहाली लेकर आने वाले हैं, जिससे आपको कई क्षेत्रों में भाग्य का पूरा साथ मिलेगा।
 
उपाय: घर से निकलते वक़्त घर-परिवार के बुजुर्गों का आधिरवाद ज़रूर लें।
 
 
सिंह - इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके नवम भाव में होगा फिर इसके बाद दशम भाव में और एकादश भाव से होते हुए चंद्र सप्ताह के अंत में द्वादश भाव में गोचर कर जाएगा। इसके साथ ही शुक्र का गोचर भी इस सप्ताह आपके षष्टम भाव में होगा। शुरुआत में चंद्रमा का गोचर आपकी राशि से नवम भाव में हो रहा है इसलिए आपको किसी सुदूर यात्रा पर जाना पड़ सकता है, इस यात्रा से आपको अच्छा लाभ भी होगा। परन्तु आपको ध्यान रखना होगा कि यात्रा पर निकलने से पहले सारे कागज़ात सही से रख लें अन्यथा आपका समय बर्बाद हो सकता है। पिता से आपके संबंधों में मधुरता आएगी और आप इस दौरान ज़रूरत पड़ने पर उन्हें हर संभव सहयोग भी करते दिखाई देंगे, जिससे आपके मान-सम्मान में वृद्धि देखी जाएगी। इसके बाद चंद्र के दशम भाव में गोचर करने से आपकी रचनात्मक सोच में वृद्धि होगी, जिससे आप कार्य क्षेत्र पर अधिकारियों के समक्ष अपने कई नए एवं अहम विचार रख पाएंगे जिससे आपकी छवि को बड़ा फायदा मिलेगा। व्यावसायिक जातकों के लिए समय अच्छा रहेगा और आप अपनी मेहनत से अपनी आमदनी में बढ़ौतरी भी कर सकेंगे।
 
इसके बाद सप्ताह के मध्य में चंद्र के एकादश भाव में प्रस्थान करने से आपको काफी हद तक हर प्रकार के मानसिक तनाव से मुक्ति मिलेगी। इस दौरान सकारात्मक बदलावों के चलते आपका मन प्रसन्न रहेगा और आप इसके चलते पहले से अधिक अपना मन कार्य में बेहतर प्रदर्शन की ओर लगा पाएंगे। इस दौरान आपके सामने आने वाली हर चुनौती आपको छोटी नज़र आएगी और आपके इसी रवैये को देखकर आपके अधिकार आपसे खुश भी रहेंगे। इसके बाद सप्ताह के अंत में चंद्र के द्वादश भाव में और साथी ही शुक्र के षष्टम भाव में विराजमान होने से स्थितियों में उठा-पटक महसूस हो सकती है, जिससे मानसिक तनाव के साथ-साथ धन हानि के भी योग बनेंगे। आपका शत्रु पक्ष भी आपसे ईर्ष्या का भाव महसूस करेगा और इस कारण आपको नीचे दिखने के लिए हर संभव प्रयास भी करता नज़र आएगा। इसलिए आपको अपने शत्रुओं की किसी भी चाल को नज़रअंदाज़ न करने की सलाह दी जाती है।
 
उपाय: छोटी कन्याओं को खीर खिलाएं एवं दक्षिणा भी भेट में दें
 
 
कन्या - इस सप्ताह की शुरुआत में चंद्रमा आपके अष्टम भाव में विराजमान होंगे जो इसके बाद आपके नवम, दशम भाव में होते हुए सप्ताह के अंत में आपके एकादश भाव में प्रवेश कर जाएंगे। इसके साथ ही शुक्र का गोचर भी इस सप्ताह आपके पंचम भाव में होगा। शुरुआत में चंद्रमा का गोचर अष्टम भाव में होने से आपको अपने भाग्य का साथ मिलेगा जिसके चलते आप कम मेहनत के ही अच्छी सफलता प्राप्त करने में कामयाब रहेंगे। लेकिन आपको इस सप्ताह किसी को न तो कोई उधार देना है और न ही किसी से उधार लेना है, अन्यथा आपका पैसा फँस सकता है, जो आपके लिए आगे चलकर हानिकारक सिद्ध होगा। सप्ताह के शुरुआत में पैसों से जुड़ी कुछ परेशानी होगी लेकिन बाद में धीरे-धीरे आप उसे अपनी काबिलियत से काफी हद तक कम कर ही देंगे। इसके बाद चंद्र के नवम भाव में होने से आपको परिवार का सुख मिलेगा और इस दौरान आप अपने परिजनों संग किसी धार्मिक स्थल पर जाने का विचार भी करेंगे। इस यात्रा पर यूँ तो आपका धन खर्च होगा लेकिन आमदनी सही होने से आपको ये खर्च ज्यादा नहीं खलेगा।
 
इसके बाद सप्ताह के मध्य में दशम भाव में चंद्र के गोचर करने से घर-परिवार से आपको सुकून और शांति का अनुभव होगा। दाम्पत्य जातकों के लिए भी समय अच्छा रहेगा क्योंकि आपकी संतान को उन्नति मिलेगी, जिससे उनका आत्मबल बढ़ेगा। इसके बाद सप्ताहांत में चंद्र के एकादश भाव में जाने से आपके स्वभाव में बदलाव आएगा और इस बदलाव से आपका किसी से भी झगड़ा होने का योग बनेगा। संभावना अधिक है कि ये झगड़ा कार्य स्थल पर किसी सहकर्मी से हो, जिससे आपकी छवि को भी नुक्सान पहुँचेगा। माता पिता से संबंधों में दूरियाँ आ सकती हैं। वहीं शुक्र के गोचर से आप में विनम्र का भाव उत्पन्न होगा, जिससे आप घर-परिवार में हर सदस्य की मदद के लिए तत्पर नज़र आएँगे। इस दौरान आपको न चाहते हुए भी परिस्थितियों के विपरीत जाकर कई सख्त निर्णय भी लेने पड़ सकते हैं, जिसके परिणामस्वरूप आपको किसी क़रीबी के विरोध का सामना भी करना होगा। सेहत पर भी ध्यान देने की ज़रूरत होगी।
 
उपाय: बंदरों को केले खिलाएं या कुत्ते को दूध पिलाएं।