आप भी हो सकते हैं ब्रेन डैमेज के शिकार, जानें वजह

    17-Sep-2019
 

 
किसी भी काम को करने के लिए हमारे दिमाग का संतुलन अत्यंत आवश्यक है जिससे व्यक्ति की स्मरण शक्ति, उसके सोच विचार की छमता आदि प्रभावित होती हैं। कहते हैं व्यक्ति का मस्तिष्क स्वस्थ है तो उसका संपूर्ण जीवन मस्त है आइए हम आपको बताते हैं कि व्यक्ति किन आदतों से ब्रेन डैमेज का शिकार हो सकता है
 
सुबह का नाश्ता ना करने से-
आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में इंसान अपनी जरूरतों को तो पूरा कर रहा है पर खुद का ख्याल रखना भूल रहा है। कहते हैं जैसा खाए अन्न वैसा होगा मन व्यक्ति का खान पान ही उसके सारे जीवन को प्रभावित करता है, व्यक्ति अपने रोजमर्रा के कामों में अक्सर नाश्ते को मिस कर देता है जिससे शरीर की प्राथमिक जरूरतें पूरी नहीं हो पाती है जिसका सीधा प्रभाव उसके दिमाग पर पड़ता है जिससे दिमाग काम करना बंद कर देता है और ब्रेन डैमेज जैसी समस्याएं सामने आने लगती हैं।
 
फोन का अंधाधुंध उपयोग-
आज का व्यक्ति, इंसानों से कम और मशीनों से खासकर अपने फोन से कनेक्ट रहता है, फोन के बिना एक घंटा गुजारना भी हमारे लिए मुश्किल हो गया है। फोन का प्रयोग इंसान इतना अधिक कर रहा है कि वह डिप्रेशन, नींद ना आना जैसी अन्य परेशानियों से जूज रहा है। एक अध्ययन के मुताबिक फोन का अत्यधिक प्रयोग करने से ब्रेन ट्यूमर जैसी बड़ी बीमारियां हो रहीं है जो इंसान के दिमाग को गहरे रूप से प्रभावित कर रही है।
 
ज्यादा खाने से-
ओवरईटिंग यानी अपनी डाइट से अधिक खाना खा लेना, जिससे ना सिर्फ वजन बढ़ता है बल्कि इसका असर सीधा दिमाग पर भी पड़ता है और इसकी वजह से व्यक्ति की मानसिक स्थिति भी बिगड़ सकती है। वजन के बढ़ जाने से व्यक्ति को बहुत सारी बीमारियां घेर रही है और ब्रेन डैमेज उनमें से एक है।
 
नमक के अत्यधिक सेवन से-
 कहते हैं किसी भी चीज की अति नुकसान पहुंचाती है। व्यक्ति के खाने पीने में हर चीज एक संतुलित मात्रा में होनी चाहिए खासकर नमक, नमक के अत्यधिक सेवन से ब्रेन स्ट्रोक जैसी भारी समस्याओं का सामना मनुष्य को करना पड़ सकता है जिससे हमारा मस्तिष्क बहुत अधिक मात्रा में प्रभावित होता है इसीलिए डॉक्टर्स भी नमक का सेवन संतुलित मात्रा में करने की सलाह देते हैं।